धारा 370 हटाने के बाद NSA अजीत डोभाल पहुंचे शोपियां, स्थानीय लोगों के साथ खाया खाना

16
NSA Ajit Doval

NSA Ajit Doval – हाल ही भारत सरकार द्वारा कश्मीर पर से धारा 370 को हमेशा के लिए हटा दिया है इतना ही नहीं भारत की केंद्र सरकार ने कश्मीर से लद्दाख को अलग भी कर दिया है। भारत सरकार द्वारा लिए गए इस ऐतिहासिक फैसले के बाद कश्मीर ही नहीं बल्कि पुरे देश में ख़ुशी का माहौल है। धारा 370 हटने के बाद अब कश्मीर और लद्दाख दोनों केंद्रशासित राज्य की सूची में शामिल हो गए है। यानी की अब इन दोनों राज्यों पर सम्पूर्ण रूप से केंद्र सरकार का नियंत्रण रहेगा। जबकि पहले ऐसा नहीं था। कश्मीर से आर्टिकल 370 के हटने के बाद भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल (NSA Ajit Doval) शोपियां पहुँचे। इतना ही नहीं उन्होंने वह के स्थानीय निवासियों के साथ खाना भी ग्रहण किया है।

NSA Ajit Doval

हाल ही कश्मीर पर से धारा 370 को हमेशा के लिए समाप्त कर दिया गया है उसके बाद ही NSA अजित डोभाल कश्मीर दौरे पर गए हुए है। अजीत डोभाल (NSA Ajit Doval) कश्मीर की सुरक्षा का परीक्षण करने हेतु वहाँ गए है। इतना ही नहीं उन्होंने कश्मीर के स्थानीय लोगों से भी मुलाकात की है। साथ ही वह वहाँ के पुलिस अधिकारियों से भी मिले है। इस मुलाकात में NSA अजीत डोभाल के साथ डीजीपी दिलबाग सिंह भी शामिल रहे।

अजीत डोभाल (NSA Ajit Doval) ने पुलिस अधिकारियों से मुलाकात करने के बाद कश्मीर में तैनात सभी सुरक्षा बलों से भी मुलाकात की। तथा कश्मीर की सुरक्षा को लेकर बातचीत की। हम आपको बताना चाहते है की भारत सरकार द्वारा धारा 370 के हटाए जाने के बाद यह अजीत डोभाल (NSA Ajit Doval) का पहली बार कश्मीर गए है। इसके अलावा, अजीत डोभाल ने कश्मीर जाने से पहले ही जिस समय कश्मीर से धारा 370 हटाने की आधिकारिक घोषणा की गई थी। उस ही समय कश्मीर के राज्यपाल से सुरक्षा व्यवस्था के बारें में पूछा था। इसके साथ ही उन्होंने राज्य के सभी जिलों के पुलिस अधिकारियों को आदेश दिए है की वह राज्य के सभी लोगों की हर प्रकार की सम्पूर्ण मदद करे। तथा इस बात पर ध्यान दें की स्थानीय लोगों को किसी भी प्रकार की कोई परेशानी न हो।

प्रधानमंत्री के आवास पर हुई थी बैठक

इस ऐतिहासिक फैसले को लेने के एक रात पहले यानी की सोमवार को दिल्ली में स्थित प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आवास पर देश व राज्यों के सुरक्षा मामलों को लेकर काफी समय तक मंत्रिमंडलीय समिति बैठक की गई थी। इस बैठक में जम्मू-कश्मीर के विभिन्न प्रकार के मुद्दों पर बात की गई थी। भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के द्वारा बुलाई गई इस बैठक में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल भी शामिल रहे थे। इसके अलावा, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, विदेश मंत्री एस. जयशंकर और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह शामिल रहे।

शोपियां एक ऐसा जिला है जो आंतकवाद से सबसे अधिक परेशान रहा है। इस जिले में सबसे अधिक घटना होती रहती है। इस ही राज्य में वुरहान वानी को मारा गया था। इतना ही वानी की मौत के बाद देशभर में बहुत अधिक विरोध प्रदर्शन भी देखने को मिला था। लेकिन जब से बारात सरकार द्वारा कश्मीर से धारा 370 को हटाया गया है तबसे कश्मीर में शांति का माहौल बना हुआ है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here