अब इंसान के शरीर में धड़क सकेगा सूअर का दिल, वैज्ञानिकों का दावा

53
Pig to human heart transplants

यदि किसी लंबी बीमारी या दुर्घटना के कारण इंसान के शरीर का कोई अंग काम करना बंद कर देता हैं तो ऑर्गन ट्रांप्लांट के जरिये ही व्यक्ति को नई ज़िन्दगी दी जाती हैं। ट्रांसप्लांट करवाना पूरी तरह से डोनर पर निर्भर करता है जो अक्सर समस्या पैदा करता है, लेकिन अब वैज्ञानिकों ने इसका हल खोज निकालने का दावा किया हैं। वैज्ञानिकों ने एक ऐसा तरीका निकाला हैं जिससे पशुओं के अंग को इंसान के शरीर में प्रत्यारोपित किया जा सकेगा।

यह हम सभी जानते हैं कि दुनिया में अंगदान करने वालो की कितनी कमी है। इसी समस्या का हल वैज्ञानिकों ने ढूंढ लिया है जिससे अब इंसान के शरीर में सूअर का दिल धड़क सकेगा। आपको सुनने में ये खबर थोड़ी अजीब जरूर लग सकती हैं, लेकिन यह बिलकुल सच हैं।

जर्मनी के वैज्ञानिकों ने अपने इस नए शोध से पूरी दुनिया को हैरान कर दिया हैं। ऑर्गन ट्रांसप्लांट को सरल बनाने और गंभीर बिमारियों का इलाज खोजने की दिशा में वैज्ञानिकों ने हाल ही में इस प्रयोग को अंजाम दिया हैं। ‘साइंस फॉर द क्यूरियस डिस्कवर’  की रिपोर्ट के अनुसार, वैज्ञानिकों ने अब ऐसा तरीका ढूंढ निकाला है जिससे अब इंसान के शरीर में जानवरों के अंग लगाए जा सकते है।

यह प्रयोग म्यूनिख में लुडविग मैक्समिलियन यूनिवर्सिटी में वैज्ञानिकों ने किया है। इस शोध के अनुसार, अब इंसान के दिल को सूअर के दिल के साथ बदला जा सकेगा जो हृदय रोगियों के लिए उपयोगी खबर है। इस प्रक्रिया को Xenotransplantation कहते है जिसमे किसी पशु के स्वस्थ दिल को दूसरी प्रजाति के साथ ट्रांसप्लांट किया जाता है।

इस शोध के दौरान वैज्ञानिकों ने बैबून प्रजाति के बंदर के दिल की जगह सुअर के दिल का सफलतापूर्वक प्रत्यर्पण किया है। यह प्रयोग तीन अलग-अलग समूहों पर किया गया था जिसमे 16 लंगूर शामिल थे। शोधकर्ताओं को आखिरी ग्रुप में ट्रांसप्लांट करते समय सफलता प्राप्त हुई।

ऐसा कहा जा रहा है कि सूअर का दिल लगने के बाद बैबून 6 महीने से अधिक समय तक जीवित रहा। इस प्रयोग में सफलता हाथ लगने के बाद वैज्ञानिक उम्मीद कर रहे है कि अब इंसान के दिल की जगह सूअर का दिल लगा सकेंगे। इस क्षेत्र में वैज्ञानिकों को अब तक पूरी कामयाबी नहीं मिल पाई है। ट्रांसप्लांट को सफल बनाने के लिए अभी ओर शोध करने की आवश्यकता है।

ऐसा माना जा रहा है कि इस प्रक्रिया से भविष्य में हृदय रोगियों को एक नया जीवन मिल सकेगा। वैज्ञानिकों कों उम्मीद है कि आने वाले तीन सालों में सूअर के दिल के साथ इंसान के दिल का ट्रांसप्लांट करना संभव हो जाएगा।

“Pig to human heart transplants”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here